ABOUT THE INSTITUTE
..............................................
MESSAGES
..............................................
COURSES
..............................................
TIME TABLE
..............................................
RESULT
..............................................
RULES & REGULATION
..............................................
OUR PUBLICATION
..............................................
DOWNLOAD FORM
..............................................
GALLERY
..............................................
SYLLABUS
..............................................
NIMSE  AM College
..............................................

CG COUNCIL OF A.M

..............................................
INSTITUTE OF PROFESSIONAL EDUCATION
..............................................
SWASTHYA MITRA  PRASIKSHAN KARYAKRTAM CG
..............................................
INSTITUTE OF PARA MEDICAL
..............................................
INSTITUTE OF FIRE AND SAFETY
..............................................
CHHATTISGARH COUNCIL OF SCHOOL & PROFESSIONAL EDUCATION (C.G.)
..............................................
REGISTRATION
 
Authorized Study Centre
..............................................
LIFE CARE VAIKALPIK CHIKITSA SEVA SANSTHAN
 
Welcome to our website
     
institute of para medical authorization certificate para medical admission cum examination form ID Card Form

योजना प्रारूप
 
स्वास्थ्य सेवक प्रशिक्षण कार्यक्रम छत्तीसगढ
 
द्वारा संचालित
   लाइफ केयर वैकल्पिक चिकित्सा सेवा संस्थान
लोरमी, जिला - बिलासपुर (छ.ग.)
छत्तीसगढ़ सोसायटी रजिस्ट्रीकरण अधिनियम 1973 (44) के अधीन पंजीकृत, पंजीयन क्रमांक छ.ग. राज्य 1411
माननीय जबलपुर उच्च न्यायालय द्वारा वैकल्पिक चिकित्सा प्रणाली का पठन-पाठनपुर्णतः वैघ घोषित पिटिसन नंबर 5553/1998,
भारतीय संविधान की धारा 19 (1) ह के तहत कार्यरत 
लाइफ केयर वैकल्पिक चिकित्सा सेवा संस्थान
लोरमी, जिला - बिलासपुर (छ.ग.) योजना का नाम -
            स्वास्थ्य सेवक प्रशिक्षण

 कार्यक्रम छत्तीसगढ़ (छत्तीसगढ़ अल्टरनेटिव मेडिकल प्रेक्टीसनर)
2.    योजना प्रशिक्षण अवधि -
        अधिकतम 5 वर्ष में संपुर्ण छत्तीसगढ़ के सभी 146 विकासखंडो में प्रशिक्षण केंद्र खोलकर वहां से स्वास्थ्य सेवक/अल्टरनेटिव मेडिकल प्रेक्टीसनर का चयन दो चरण में किया जावेगा एवं सभी स्वास्थ्य सेवक/अल्टरनेटिव मेडिकल प्रेक्टीसनर को वैकल्पिक चिकित्सा प्रणाली का 1 वर्ष/ 3 वर्ष का प्रशिक्षण दिया जावेगा।
3.    कार्यक्षेत्र -
            संपुर्ण छत्तीसगढ़
4.    योजना प्रा्ररूप -
            इस कार्यक्रम के तहत छत्तीसगढ़ के सभी 146 विकास खंडो में प्रशिक्षण केंद्र खोलकर, प्रत्येक विकासखंड के प्रत्येक पंचायत से एक 10 वीं और एक 12 वीं उत्र्तीण व्यक्ति को क्रमशः 1 साल और 3 साल ठ।डै;।डद्ध का वैकल्पिक चिकित्सा प्रणाली (प्राकृतिक चिकित्सा प्रणाली, योग चिकित्सा प्रणाली, एक्युप्रेसर चिकित्सा प्रणाली, एक्युपंचर चिकित्सा प्रणाली, बायोकैमी चिकित्सा प्रणाली, पुष्प चिकित्सा प्रणाली, मसाज चिकित्सा प्रणाली, जल चिकित्सा प्रणाली एवं अन्य वैकल्पिक चिकित्सा प्रणाली) का प्रशिक्षण दिया    जावेगा। प्रशिक्षण पश्चात् प्रशिक्षण का प्रमाण पत्र दिया जावेगा।
                  सफलता पूर्वक प्रशिक्षण प्राप्त करने के पश्चात् लोगों को स्वास्थ्य विषयक शिक्षा देंगे एवं आवश्यकता पड़ने पर वैकल्पिक चिकित्सा प्रणाली द्वारा प्राथमिक उपचार करेगे। अपने गांव के सभी लोंगों को जागरूक करेंगे, उन्हें स्वास्थ्य विषयक जानकारी प्रदान करेंगे, उन्हें पुराने रूढ़ीवादी विचारधारा एवं परंपराओं से बाहर निकालने का प्रयास करंेगे।
 
5.    योजना प्रारंभन -
            प्रथम साल         -     बिलासपुर जिला
                                    जांजगीर जिला
                                    कोरबा जिला
                                    रायगढ़ जिला
                                    कोरिया जिला
                                    दुर्ग जिला
                                    कबीरधाम जिला
            द्वितीय साल  -           रायपुर जिला
                                    जशपुर जिला
                                    सरगुजा जिला
                                    राजनांदगांव जिला
                                    महासमंुद जिला
                                    धमतरी जिला
            तृतीय साल   -           जगदलपुर जिला
                                    कांकेर जिला
                                    दंतेवाड़ा जिला
 
6.    छत्तीसगढ़ में उपलब्ध स्वास्थ्य सेवाएं  -
            छ.ग. की जनसंख्या 2,07,95,956 है, जिनके लिए
            6 जिला अस्पताल - 34,65,992 लोगों के लिए एक जिला अस्पताल
            34 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र - 6,11,645 लोगों के लिए एक सामुदायिक स्वास्थ्य कंेद्र
            512 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र - 40,617 लोगों के लिए एक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र
            3818 उपस्वास्थ्य केंद्र - 5,446 लोगों के लिए एक उपस्वास्थ्य केंद्र
                 
                  उपरोक्त उपलब्ध स्वास्थ्य सेवाएं पर्याप्त नही है, जिनके अभाव में गांव के लोग गांव के कथित झोलाछाप डाॅक्टर (जिन्होनें ना कही से प्रशिक्षण लिया है, और ना ही जिनका कही पंजीयन है) से इलाज कराने मजबुर है, जो लोगांे को कुछ लाभ पहुचाने के साथ अधिक हानि पहुचा रहे हेै, साथ ही मरीज का मनमानी ढ़ंग से शोषण कर रहे है।
                  इन सभी परिस्थितियों से बचने के लिए प्रत्येक पंचायत में एक 10 वी उत्र्तीण व्यक्ति को एक वर्ष प्रशिक्षण एवं एक 12 वी उत्र्तीण व्यक्ति को तीन वर्ष तक वैकल्पिक चिकित्सा प्रणाली का प्रशिक्षण दिया जावेगा जो प्रशिक्षण पश्चात् गांव में लोगो को स्वास्थ्य शिक्षा प्रदान करेगे एवं लोगों का वैकल्पिक चिकित्सा प्रणाली द्वारा प्राथमिक उपचार करेंगे। साथ ही संचालित स्वास्थ्य सेवाओं के क्रियान्वयन में सहयोग करेंगे।
 
7.  इस कार्यक्रम के तहत छत्तीसगढ़ के सभी 146 विकास खंडोें से चयन कर एवं प्रशिक्षण के लिए स्वास्थ्य सेवक/अल्टरनेटिव मेडिकल प्रेक्टीसनर -2,07,95,956 लोगो के लिए 18,270 स्वास्थ्य सेवक/ अल्टरनेटिव मेडिकल प्रेक्टीसनर, प्रत्येक पंचायत से एक 10 वीं उत्र्तीण को एक वर्ष एवं एक 12 वी उत्र्तीण को तीन वर्ष तक वैकल्पिक चिकित्सा प्रणाली का प्रशिक्षण दिया जावेगा।
 
8.    जिलेवार जानकारी -      चयन कर प्रशिक्षण दिए जाने वाले स्वास्थ्य सेवक/अल्टरनेटिव मेडिकल प्रेक्टीसनर
 
   क्र .       जिला              पंचायत           जनसंख्या      चयन किए जाने वाले
                                                                     अल्टरनेटिव मेडिकल प्रेक्टीसनर
    1.           बिलासपुर        
  825               19,93,042                1650
    2.           जांजगीर        
   528               13,16,140                1056
    3.           कोरबा            
347               10,12,121            694
    4.           रायगढ़          
  673               12,65,084           1346
    5.           कोरिया       
    230               5,85,455            460
    6.           दुर्ग              
945               28,01,757                1890
    7.           कबीरधाम         
329               5,84,667                 658
    8.           रायपुर            
1131              30,09,042                2262
    9.           जशपुर            
410               7,39,780                 820
   10.          सरगुजा        
    977               19,70,661                1954
   11.          राजनांदगांव       
  630               12,81,811                1260 
   12.          महासमंुद         
  474               8,60,176                 948
   13.          धमतरी            
296               7,03,569                 592
   14.          जगदलपुर         
585               13,02,253                1170
   15.          कांकेर            
375               6,51,333                 750
   16.          दंतेवाड़ा       
    374               7,19,065                 748
9.    योजना लाभ एवं महत्व -   इस कार्यक्रम के अन्र्तगत
2,07,95,956 लोगोकेलिए 18,270 अल्टरनेटिव र्मेिडकल प्रेक्टीसनर (छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य सेवक) का चयन कर उन्हें संस्था द्वारा एक वर्ष/तीन वर्ष का प्रशिक्षण दिया जावेगा। जो छत्तीसगढ़ के लिए पर्याप्त संख्या है।
            हमारे संस्था के  सभी अल्टरनेटिव र्मेिडकल प्रेक्टीसनर (छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य सेवक) लोगो को स्वास्थ्य विषयक जानकारी (स्वास्थ्य शिक्षा) प्रदान करंेगे और आवश्यकता पड़ने पर वैकल्पिक चिकित्सा प्र्रणाली द्वारा प्राथमिक करेंगे एवं उन्हे शासकीय अस्पताल तक ले जाने मे मदद करेगे। छत्तीसगढ़ के सभी पहुच विहीन गांव के लोगो को इस तरह से स्वास्थ्य शिक्षा और प्राथमिक  उपचार एवं मार्गदर्शन मिल पाएगा, जिससे छत्तीसगढ़ की जनता राहत महसूस करंेगे।
10.   प्रशिक्षण कार्यक्रम के उद्देश्य -
  1.लोंगों मेें स्वास्थ्य जागरूकता लाना।
      2.पहुच विहीन एवं ग्रामीण क्षेत्रों में ऐसे प्रशिक्षित व्यक्ति (छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य सेवक) गांव में उपलब्ध कराना जो लोगों को प्राथमिक स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध करा सके।       
      3.प्रत्येक गांव में ऐसे जन सेवक तैयार करना जो आवश्यकता पड़़ने पर वैकल्पिक चिकित्सा प्रणाली द्वारा प्राथमिक उपचार करे और उन्हेे जागरूक करे।
      4.स्वास्थ्य सेवाओं के क्षेत्र में शासन द्वारा संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन में सहयोग करना एवं उनकी विस्तृत जानकारी देना एवं ग्रामीण जनता को लाभ लेने के लिए प्रेरित करना।
      5. गांव के लोगो को सभी रोगो के बारे जानकारी एवं उनसे बचाव के साधनों के प्र्रयोग के लिए प्रेरित करना। एवं अंधविश्वासों को दुर करने का प्रयास करना।
11.   प्रशिक्षण अवधि -प्रत्येक पंचायत से एक 10 वीं और एक 12 वीं उत्र्तीण व्यक्ति को क्रमशः 1 साल क्।डै;।डद्ध और 3 साल ठ।डै;।डद्ध वैकल्पिक चिकित्सा प्रणाली का प्रशिक्षण दिया जावेगा।
12.   अनिवार्य योग्यता - 10 वीं और 12 वीं उत्र्तीण
13.   चयन प्रक्रिया - स्वास्थ्य सेवक/अल्टरनेटिव र्मेिडकल प्रेक्टीसनर का चयन ग्राम पंचायत के ही योग्य महिला/पुरूष (10वीं/12वीं  उत्र्तीण) से आवेदन लेकर सर्वाधिक योग्य महिला/पुरूष का चयन कर प्रशिक्षण केंद्र भेजेेगे महिला आवेदक को पुरूष आवेदक पर प्राथमिकता दी जावेगी।
14.   प्रशिक्षण -स्वास्थ्य सेवक/अल्टरनेटिव र्मेिडकल प्रेक्टीसनर के प्रशिक्षण के लिए छत्तीसगढ़ के सभी 146 विकासखंडों में एक-एक प्रशिक्षण केेद्र खोला जावेगा, जहां से प्रशिक्षण दिया जावेगा।
15.   प्रशिक्षक - प्रशिक्षण के लिए इच्छुक शासकीय डाॅक्टर की निःशुल्क सेवा ली जावेगी। इसके अलावा पंजीकृत प्राइवेट डाॅक्टर की सेवा ली जावेगी।
16.   योजना संचालन फंड -शासन के सहयोग से संचालन अथवा प्रशिक्षणार्थी से कुछ प्रशिक्षण शुल्क एवं दान लेकर
17.   छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य सेवक के कर्तव्य
      1.     लांेगों को स्वास्थ्य विषयक जागरूक करना।
      2.     लोगों को सभी रोंगों से बचाव के उपायों के बारे में बताना ।
      3.     लोगों को सभी रोगों के बारे में बताना कि रोग कैसे फैलता है इनसे कैसे बचाव किया जा सकता                   है। इनके हानिकारक  प्रभाव क्या-क्या है, ये हमे किस प्रकार से प्रभावित करते है, इनसे हमें किस तरह की जन धन की हानि होती है।
      4.     स्वास्थ्य सेवाओं के क्षे़त्र में शासन द्धारा संचालित योजनाओं के बारे में लोंगोें को बताना एवं उनसे लाभ लेने के लिए प्रेरित करना।
      5.     स्वास्थ्य सेवाओं के क्षे़त्र में शासन द्वारा संचालित योजनाओं के क्र्रियान्वयन मेे सहयोग करना।
      6.     लोगों का स्वास्थ्य शिक्षा देना एवं आवश्यकता पढ़ने पर वैकल्पिक चिकित्सा प्रणाली (योग चिकित्सा                   प्रणाली, प्राकृतिक चिकित्सा प्रणाली, एक्युप्रेशर चिकित्सा प्रणाली, एक्युपंचर चिकित्सा प्रणाली, बायोकैमिक चिकित्सा प्रणाली, चुम्बक चिकित्सा प्रणाली, पष्प चिकित्सा प्रणाली, मसाज चिकित्सा प्रणाली, एवं अन्य वैकल्पिक चिकित्सा प्रणाली ) द्वारा प्राथमिक उपचार कर लोगों को राहत देना।
      7.     क्षेत्र में किसी प्रकार की गंभीर बिमारी अथवा महामारी फैलने की पहली सूचना तत्काल स्वास्थ्य केंद्र को देना
      8.     लोंगों को साफ सुथरा रहने की प्रेरणा देना।
      9.     गांव में लोंगों को ओ. आर. एस की घोल बनाने तथा अतिसार से बचाव और इलाज की सह जानकारी देना।
      10.    विवाह,गर्भवती महिलाओं, जन्म तथा मष्त्यु का पंजीयन करवाने की प्रेरणा देना।
      11.    गांवों में सभी गर्भवती माताओं को तीन बार प्रसव पुर्व जांच करवाने की प्रेरणा देना।
      12.    गांव के सभी गर्भवती महिलाओं को अस्पताल में प्रसव कराने की प्रेरणा देना, यदि वे अस्पताल में प्रसव के तैयार ना हो तो प्रशिक्षित दाई से सुरक्षित प्रसव कराने की प्र्रेरणा देना।
      13.    गांव के लोंगों को परिवार नियोजन के साधनोें के विषय में समझाना तथा कंडोम एवं ओरल विल्स एवं अन्य सभी साधनों के बारे में जानकारी देना और इनके उपयोग की प्रेरणा देना।
      14.    गांव के सभी पेयजल स्त्रोतों में प्रति सप्ताह नियमित रूप से ब्लीचिंग पावडर डालकर शुद्धिकरण करने के लिए प्रेरित करना।
      15.    गांव के सभी लोंगों को पीने के पानी में क्लोरिन की गोली डालकर उपयोग करने की सलाह देनां
      16.    गांव के लोगों को कम उम्र में विवाह न करने की सलाह देना।
      17.    गांव के निवासियों के पोषण को बेहतर बनाने के लिए प्रयास करना एवं लोंगों को पोषण संबंधी विस्तृत जानकारी देना।
      18.    गांव की रोगी का रजिस्टर बनाना।
      19.    गांव के निवासियों के स्वास्थ्य को उन्नत बनाने के प्रयास करना एवं लोंगों को स्वास्थ्य को उन्नत बनाने संबधी जानकारी प्रदान करना।

 
 

Thanks for visit

More details contect us :
www.cpenedu.com
email :- chairmain@cpenedu.com
09893354327, 09424757138

 

     
Powered by SynQues                   Chhattisgarh Professional Education & Network Pvt. Ltd. © 2010                  Disclaimer | Privacy Policy | Site Map